नाराज वरुण गांधी के बागी तेवर, भाजपा ने स्‍टार प्रचारकों की सूचि से नाम हटाया

एक कांग्रेस नेता ने स्‍कूल ने कार्यक्रम में जाकर वरुण गांधी माइक के सामने आते ही बागी हो गए। उन्‍होंने बीजेपी की केंद्र सरकार के काम पर ही सवाल उठाने शुरू कर दिए। वरुण गांधी के इस तेवर से घबराकर आनन फानन ने बीजेपी कार्यकारिणी ने उन्‍हें स्‍टार प्रचारकों की सूच‍ि के ही बाहर कर दिया। उनकी जगह केंद्रीय मंत्री मनोज सिंन्‍हां का नाम शामिल किया गया है।

यह तो सभी ने देखा ही कि इस बार के यूपी चुनावों में बीजेपी सांसद वरुण गांधी को वो महत्‍व नहीं दिया गया जिसकी उन्‍हें उम्‍मीद थी। इसलिए वरुण ने बागी रुख इख्‍तियार कर लिया। इंदौर में एक कार्यक्रम में वरुण ने सिस्‍टम के खिलाफ जम कर हल्‍ला बोला और यहां उन्‍होंने रोहित विमुला की आत्‍म हत्‍या का मुद्दा भी उठाया। उन्‍होंने कहा कि रोहित का सुसाइड लेटर पढ़ कर उन्‍हें रोना आ गया। इसका जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि उस पत्र में लिखा था कि वह आत्‍महत्‍या इसलिए कर रहा है कि उसने इस रूप में जन्‍म लेकर पाप किया है।

इसके अलावा उन्‍होंने किसानों की आत्‍महत्‍या पर भी अपने आंकडे दिए। उन्‍होंने कहा कि पिछले दो सालों में 7500 किसानों ने आत्‍महत्‍या की और यह सरकारी आंकड़ा है। जबकि सच्‍चाई यह है कि यह संख्‍या 50 हजार के आसपास है। इस संबोधन में वरुण ने विजय माल्‍या का भी जिक्र किया और कहा कि 10 हजार करोड़ का लोन लेकर भी आदमी नोटिस मिलते ही फरार हो जाता है ये व्‍यवस्‍था पर सवाल है या नहीं।

महत्‍वपूर्ण बात है कि यूपी चुनाव से पहले बीजेपी के जिन स्‍टार प्रचारकों की सूच‍ि जारी की गई थी उसमें वरुण गांधी का नाम नहीं था हालांकि बाद में उसे जोड़ा गया। इसके घटना के बाद उनका नाम एक बार फिर स्‍टार प्रचारकों की सूचि से हटा लिया गया। गौरतलब है कि वरुण गांधी सुल्‍तानपुर से बीजेपी सांसद हैं और उनकी माां मेनका गांधी केंद्रीय मंत्री हैं और पीलीभीत से सांसद हैं।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here