Picture credit : infowars.com

पूरे दिन में 24 घंटे होते हैं और जब से हमने जन्‍म लिया है यही देखते आ रहे हैं कि एक दिन में 24 घंटे होते हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि एक समय ऐसा भी था जब धरती का एक दिन 24 घंटे से कम हुआ करता था। जी हां, चौंकिए मत क्‍योंकि ये बात बिलकुल सच है।

एक ज़माना ऐसा भी था जब दिन में 24 घंटे नहीं बल्कि इससे कम समय हुआ करता था। आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि पहले 24 घंटे की बजाय कितने घंटो का समय हुआ करता था और इसका क्‍या कारण था।

इतने घंटों का होता था दिन

हाल ही में एक रिसर्च में वैज्ञानिकों ने इस बात का पता लगाया है कि अब धरती पर हर एक दिन लंबा होता जा रहा है और ये लगातार हो रहा है। पहले की बात करें तो तब एक दिन 24 नहीं बल्कि 18 घंटे का हुआ करता था। जी हां, ये बात कई साल पहले की है जब दिन 18 घंटे में ही खत्‍म हो जाया करता था। आइए जानते हैं इसके कारण के बारे में।

धरती से बढ़ती चांद की दूरी

वैज्ञानिकों की मानें तो धरती पर हमारा एक दिन लगातार लंबा होता जा रहा है और अगर इसके कारण की बात की जाए तो इसकी वजह धरती और चांद की बढ़ती हुई दूरी है। रिसर्च में सामने आया है कि हर साल चांद धरती से 3.82 सेंटीमीटर दूर जाता जा रहा है। जिस तरह चांद धरती से दूर जा रहा है उस कारण से धरती के प्रति उसका गुरुत्‍वाकर्षण खिंचाव भी कम होता जा रहा है।

इसका मतलब है कि धरती के अपनी धुरी पर घूमने की स्‍पीड भी कम होती जा रही है। इसी वजह से पहले के मुकाबले अब दिन लंबे होते जा रहे हैं।

स्‍टडी का क्‍या है कहना

इस विषय पर एक स्‍टडी की गई थी जिसमें वैज्ञानिकों ने बताया कि अब से तकरीबन 1.4 अरब साल पूर्व धरती पर एक दिन यानि दिन और रात को मिलाकर समय 18 घंटे का हुआ करता था। अब यह समय 24 घंटे ये ज्‍यादा हो चुका है।

पहले धरती के पास था चांद

वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में खुलासा किया है कि अरबों साल पहले धरती के चांद बहुत नज़दीक हुआ करता था। इस वजह से धरती का एक दिन अब के मुकाबले काफी छोटा हुआ करता था। हालांकि, साल दर साल चांद से धरती की दूरी बढ़ती जा रही है और इस वजह से हमारा दिन भी लंबा होता जा रहा है।

इस रिसर्च में शामिल शोधकर्ताओं का कहना है कि उन्‍होंने अपनी स्‍टडी में चांद और धरती के इस संबंध को जांचने की कोशिश की है और इसमें कई कॉन्‍प्‍लेक्‍स स्‍टेटिक डाटा को एनालाइज़ किया गया है। इस स्‍टडी के द्वारा उन्‍हें अपने सोलर सिस्‍टम के इतिहास और धरती के प्राचीन इतिहास के बारे में जानने का मौका मिला। शोधकर्ताओं की मानें तो सौर मंडल का प्रत्‍येक ग्रह बाकी सभी ग्रहों और अन्‍य चीज़ों से प्रभावित होता है।

Picture credit : inhabitat.com

इस रिसर्च में ये बात साफ तौर पर कही गई है कि पहले चांद और धरती दोनों नज़दीक थे और इस वजह से दिन छोटा हुआ करता था लेकिन अब इनके बीच की दूरी बढ़ गई और लगातार बढ़ती जा रही है जिस वजह से दिन लंबा होता जा रहा है। पहले एक दिन में 18 घंटे हुआ करते थे लेकिन अब 24 घंटे हो गए हैं और ये समयावधि आगे भी और बढ़ सकती है।

ये खबर उन लोगों के लिए बहुत काम की है जिन्‍हें दिन के 24 घंटे कम पड़ते थे। आपकी जिंदगी में भी कभी ऐसा वक्‍त आया होगा जब आपको दिन के 24 घंटे कम लगे हों। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो ये खबर आपके बहुत काम की है क्‍योंकि धरती और चांद की लगातार बढ़ती दूरी की वजह से दिन लंबे होते जा रहे हैं।

पहले सिर्फ 18 घंटे का होता था दिन, 24 घंटे होने की दिलचस्प है कहानी
5 (100%) 2 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here