Congress

आप यह जानते हैं कांग्रेस पार्टी देश की सबसे पुरानी पार्टी है, लेकिन शायद ही आप यह जानते होंगे कि कांग्रेस पार्टी में कई बार विभाजन हो चुका है। कांग्रेस पार्टी से जुड़े हर वो तथ्य जो भारतीय राजनीति को प्रभावित करता है आप यहां जान सकते हैं।

कांग्रेस की स्थापना कब हुई?

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्थापना 1885 में एक अग्रेज ने किया था जिनका नाम ए ओ ह्यूम था। ए ओ ह्यूम थियोसोफिकर सोसाइटी से जुड़े हुए थे। इसकी स्थापना का उद्देश्य भारतीयों को राजनीतिक रूप से परिपक्व बनाना था। कांग्रेस की स्थापना कर के भारतीयों को और भी लोकतांत्रिक बनाने का प्रयास किया गया था।

jawahar lal nehru

कांग्रेस का स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान

कांग्रेस पार्टी का स्वतंत्रता आंदोलन में अहम योगदान रहा भारत के स्वतंत्रता आंदोलन के सभी प्रमुख नेता कांग्रेस पार्टी से ही जुड़े थे। कांग्रेस पार्टी  स्वतंत्रता से पहले देश की सबसे अहम पार्टी थी। कांग्रेस पार्टी को ही अंग्रेजों की तरफ से बातचीत के लिए भी आमत्रित किया जाता था।

आजादी के बाद की कांग्रेस पार्टी

आजादी के बाद कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में ही एक तात्कालिक सरकार का निर्माण किया गया। 1947 में कांग्रेस की अध्यक्ष आचार्य कृपलानी थी। आजादी के बाद से कांग्रेस पार्टी में अबतक कुल 18 अध्य़क्ष बन चुके हैं।

  1. 18 अध्यक्षों में से 4 अध्यक्ष गांधी नेहरू परिवार से रहे हैं।
  2. सोनिया गांधी सर्वाधिक 19 वर्षो तक कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष रह चुकी है।
  3. इंदिरा गांधी कुल 7 वर्षो तक कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष रही।
  4. पंडित जवाहर लाल नेहरू सब से कम उम्र में कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे।
  5. लाल बहादुर शास्त्री और मनमोहन सिंह दो ऐसे कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने जो कभी भी कांग्रेस के अध्य़क्ष नहीं बने।

कांग्रेस पार्टी की विचारधारा

कांग्रेस पार्टी लगभग 134 वर्ष पुरानी राजनीतिक पार्टी है। कांग्रेस की विचारधारा को देश की विचाराधारा माना जाता रहा है। कांग्रेस पार्टी मुख्य रूप से महात्मा गांधी के विचारधारा पर काम करती है। कांग्रेस पार्टी समय और परिस्थिती के अनुसार अपने कार्यप्रणाली में परिवर्तन लाते रहती है। कांग्रेस की स्पष्ट आर्थिक नीति नेतृत्व के परिवर्तन के अनुसार बदलती रही है। पंडित नेहरू के जमाने में कांग्रेस पार्टी को साम्यवाद की तरफ झुका हुआ माना जाता  था वहीं इंदिरा के समय कांग्रेस पार्टी राष्ट्रवाद की तरफ झुकी हुई मानी जाती थी।

sonia gandhi congress se jude

कांग्रेस पार्टी का संगठन

कांग्रेस पार्टी का संगठन कई हिस्सो में बंटा हुआ है।

  1. राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी के संगठन को देखनें के लिये AICC है जिसे ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी कहते हैं।
  2. प्रदेश स्तर पर कांग्रेस की संगठन देखने के लिए PCC है यह प्रदेश स्तर पर कांग्रेस का संगठन देखती है।
  3. मजदूरों को पार्टी के साथ जोड़ कर रखने के लिए कांग्रेस पार्टी में INTUC जिसे इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस कहा जाता है।
  4. छात्रों को अपने साथ जोड़कर रखने के लिए NSUI का गठन किया गया है। इसे नेशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया के नाम से जाना जाता है।
  5. इसके अलावा भी कई छोटे बड़े संगठन हैं जो कांग्रेस पार्टी के अनुषंगी इकाई के रूप में काम करती है।

कांग्रेस पार्टी का चुनावी राजनीति में इतिहास

  1. कांग्रेस पार्टी 1952 से लेकर 1977 तक लगातार भारत के सत्ता में रही।
  2. 1977 के आम चुनाव में पहली बार कांग्रेस को संयुक्त मोर्चा के हाथो हार का सामना करना पड़ा।
  3. 1977 के बाद 1996 और 2014 में कांग्रेस को जबर्दस्त हार का सामना करना पड़ा।
  4. कांग्रेस ने 1984 में सर्वाधिक 401 सीट जीतकर इतिहास बनाया था।
  5. 2014 के चुनाव में कांग्रेस को महज 44 सीटों से संतोष करना पड़ा था जो उसके इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी हार है।
  6. कांग्रेस पार्टी ने 72 वर्ष के भारतीय संसदीय इतिहास में अब तक कुल 54 वर्ष देश पर शासन किया है।
  7. कांग्रेस की तरफ से अब तक जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, राजीव गाधी, नरसीहं राव, मनमोहन सिहं प्रधानमंत्री बन चुके हैं।

कांग्रेस के साथ जुड़ा विवाद

देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के साथ कई विवाद रहे हैं-

  1. कांग्रेस के उपर लगातार परिवारवाद का आरोप लगता रहा है।
  2. पहली बार 1969 के राष्ट्रपति चुनाव के समय कांग्रेस पार्टी में विभाजन हो गया।
  3. बोफोर्स तोप सौदे में गड़बड़ी को लेकर भी कांग्रेस पार्टी विवादों में रही थी।
  4. लोकपाल आंदोलन के समय भी पार्टी को भ्रष्टाचार का आरोप झेलना पड़ा था।


जानिए कांग्रेस पार्टी से जुड़े 7 रोचक तथ्य
4.6 (92%) 10 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here