जबलपुर ।। मध्य प्रदेश की ‘संस्कारधानी’ कहे जाने वाले जबलपुर शहर में भगवान गणेश का एक ऐसा मंदिर है, जहां भक्तों को अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए अर्जी लगानी होती है। गणेशोत्सव पर इस मंदिर का महत्व और बढ़ जाता है, हजारों की तादाद में श्रद्धालु यहां पहुंचकर अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए अर्जी लगा रहे हैं।

जबलपुर के ग्वारीघाट इलाके में श्री सिद्ध गणेश मंदिर है। मान्यता है कि इस मंदिर में अर्जी लगाने से मनोकामना की पूर्ति होती है। यहां पहुंचने वाले श्रद्धालु मंदिर में नारियल के साथ अपनी मनोकामना की अर्जी लगाते हैं। श्रद्धालुओं की इस अर्जी का मंदिर प्रबंधन द्वारा पूरा लेखा-जोखा भी रखा जाता है।

मंदिर के संस्थापक राम बहादुर बताते हैं कि मंदिर में अर्जी लगाने वालों का पूरा लेखा-जोखा रखा जाता है, इसके लिए रजिस्टर भी बनाए गए हैं। इस रजिस्टर में सम्बंधित व्यक्ति का ब्यौरा दर्ज किया जाता है, साथ ही उसे नम्बर भी आवंटित किया जाता है। नारियल पर नंबर दर्ज कर उसे सम्बंधित व्यक्ति की मनोकामना के साथ भगवान गणेश के दरबार में रख दिया जाता है।

मंदिर प्रबंधन के पास उन सभी लोगों का पूरा ब्यौरा मौजूद है, जो यहां आकर अर्जी लगाते हैं। इस मंदिर में अब तक 51 हजार से ज्यादा लोग अर्जी लगा चुके हैं। इसके अलावा गणेश के दरबार में आने वाले नारियलों को व्यवस्थित तरीके से रखा गया है। श्रद्धालु बताते हैं कि जब उनकी मनोकामना पूरी हो जाती है, तब वे मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना करते हैं।

अर्जी लगाने से खुश होते हैं गणपति
3 (60%) 3 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here