वाशिंगटन ।। राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, बम्बई के स्नातक अरुण मजुमदार को ऊर्जा विभाग में शीर्ष पद पर नियुक्त किया है। ऊर्जा उपमंत्री के पद पर मजुमदार की नियुक्ति के साथ ही चार अन्य प्रमुख प्रशासनिक पदों के लिए नियुक्ति की घोषणा करते हुए ओबामा ने कहा, “इन पुरुषों और महिलाओं ने अपने पूरे करियर में ज्ञान और समर्पण का प्रदर्शन किया है।”

ओबामा ने कहा, “मैं इस बात के लिए कृतज्ञ हूं कि इन्होंने इन महत्वपूर्ण भूमिकाओं को स्वीकार किया है, और मैं आगामी महीनों व वर्षो में उनके साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं।”

मजुमदार ने आईआईटी, बम्बई से 1985 में मेकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की उपाधि हासिल की थी। उसके बाद उन्होंने युनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया, बर्कले से 1989 में पीएचडी की।

ओबामा प्रशासन में बिल क्लिंटन और जॉर्ज बुश प्रशासन की बनिस्बत सर्वाधिक भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों को उच्च पदों पर नियुक्त किया गया है। किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति के प्रशासन में अब तक सर्वोच्च पद पर रहे भारतीय मूल के अमेरिकियों में अमेरिकी अंतर्राष्ट्रीय विकास एजेंसी (यूएसएआईडी) के प्रशासक राजीव शाह हैं।

व्हाइट हाउस के अनुसार, मजुमदार 2009 से एडवांस्ड रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी-इनर्जी (एआरपीए-ई) के निदेशक के रूप में काम कर रहे हैं।

इसके पहले वह लारेंस बर्कले नेशनल लैबोरेटरी में ऊर्जा एवं पर्यावरण के एसोसिएट निदेशक के रूप में तथा युनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया, बर्कले में मेकेनिकल इंजीनियरिंग एवं द्रव्य विज्ञान एवं इजीनियरिंग के प्रोफेसर के रूप में काम कर चुके हैं।

मजुमदार का अनुसंधान करियर विज्ञान और ऊर्जा रूपांतरण, परिवहन एवं भंडारण पर केंद्रित रहा है। उनका अनुसंधान आणविक एवं नैनोस्केल स्तर से लेकर विशाल ऊर्जा प्रणालियों तक विस्तृत रहा है।

मजुमदार राष्ट्रीय विज्ञान प्रतिष्ठान के अभियांत्रिकी निदेशालय की सलाहकार समिति तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर राष्ट्रपति की सलाहकार परिषद में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वह 2005 में राष्ट्रीय अभियांत्रिकी अकादमी के सदस्य निर्वाचित हुए थे।

आईआईटी के स्नातक अरुण मजुमदार को ओबामा प्रशासन के ऊर्जा विभाग में मिला शीर्ष पद
Rate this post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here