ambedkar new naam raamji

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने एक ऐसा बदलाव किया है जो हो सकता है जल्द ही भारतवर्ष में लागू हो जाए। उत्तर प्रदेश में डॉ. भीम राव अंबेडकर के नाम में अबरामजीजोड़ दिया गया है।

प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक जी से सलाह लेने के बाद, योगी सरकार ने इस फ़ैसले पर अपनी मुहर लगाकर सम्बंधित बदलाव करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

राम नाईक जी ने बाबा साहेब का पूरा नाम नहीं लिखे जाने पर नाराज़गी जतायी थी। वह ऐसे एक कैम्पेन से लम्बे समय से जुड़े भी थे।

क्या है बाबा साहेब का पूरा नाम?

डॉ. भीम राव अंबेडकर महाराष्ट्र से जुड़े थे और उनके पिता का नाम रामजी था। उनके नाम से कभी भी उनके पिता का नाम नहीं जोड़ा गया जिसकी वजह से हम सभी आज तक उनका नाम अधूरा लेते आए हैं।

Bhimrav Ramji Ambedkar Sign
Picture Source : Times of India

संविधान निर्माता बाबा साहेब का पूरा नाम नहीं लेने से राम नाईक जी को बहुत लम्बे समय से आपत्ति थी। बाबा साहेब भी अपना पूरे नाम में अपने पिता का नामरामजीलगाते थे।

इससे पहले आगरा के डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय में अंबेडकर की जगह आंबेडकर लिखने के आदेश जारी किए जा चुके हैं।

बाबा साहेब ख़ुद अपने हस्ताक्षर में अपने पिता का नाम लिखते थे। तो इस बदलाव के बाद अब उनका संशोधित नाम डॉ भीमराव रामजी आंबेडकर हो गया है।

योगी सरकार द्वारा किए इस बदलाव पर आपकी क्या राय है?

योगी सरकार क्यों जोड़ रही है अंबेडकर के नाम में ‘रामजी’?
4.8 (95%) 4 votes

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here